Amazing benefits of mulberry in hindi | शहतूत के फायदे और नुकसान | mulberry tree

Amazing benefits of mulberry in hindi | शहतूत के फायदे और नुकसान | mulberry tree

शहतूत के फायदे और नुकसान | mulberry tree
शहतूत के फायदे और नुकसान 

यह खेद का विषय है कि।

यह खेद का विषय है कि बहुत कम व्यक्तियों को फलों के रस के चमत्कारी उपयोग का ज्ञान है। इसी कारण स्वास्थ्य, शक्ति, यौवन और रोग निवारक के लिए भिन्न-भिन्न दवाइयों का उपयोग होता है। | भारत-जैसे कृषि प्रधान देश में, जहां फल और तरकारियां बहुतायत से पायी जाती हैं, लोग फल-तरकारियों को छोड़ कीमती दवाइयों का प्रयोग करते हैं। अनेक बीमारियां गलत भोजन के खाने, अभक्ष्य पदार्थों के उपयोग, आवश्यकता से अधिक और बेमेल चीजों के खाने से उत्पन्न होती हैं। प्रकृति द्वारा प्रदत्त फलों के रस द्वारा हम न केवल पेट की बीमारियों से सुरक्षित रहते हैं, बल्कि अनेक बीमारियों से मुक्ति भी प्राप्त करते हैं।
शहतूत एक पवित्र फल माना गया है। रेशम के कीड़े शहतूत के पत्ते खाकर जीते हैं; क्योंकि उनमें अद्भुत जीवनशक्ति छिपी हुई है। जब पत्ती में इतना गुण है, तो फल में क्यों न होगा? वास्तव में शहतूत भोजन और चिकित्सा दोनों में ही उपयोगी फल है। | पका शहतूत हलकी-सी मिठास लिये हुए होता है। यह भूख को बढ़ाता है, बलवर्द्धक, पुंस्त्वशक्ति को पुष्ट करने वाला भोजन है। यह शरीर का रंग निखारता है। शीतल होने से प्यास और पित्त प्रकोप के कारण अनुभव होने वाली दाह को शान्त करता है। वात और पित्त को नष्ट करने का गुण भी इसमें बहुत अधिक है।

कच्चे शहतूत के गुण पके हुए शहतूत से विपरीत होते हैं।

कच्चे शहतूत के गुण पके हुए शहतूत से विपरीत होते हैं। यह गरम, खट्टा, दस्तावर और रक्त-पित्त को पैदा करने वाला होता है। स्थायी क़ब्ज़। के रोगियों की आंतों में मल को निकालने की शक्ति क्षीण हो जाया करती है।शहतूत में विद्यमान बीज आंतों की स्वाभाविक गति को बढ़ा देते हैं, जिससे क़ब्ज़ के रोगियों के लिए उत्तम आहार हो जाता है।
यूनानी चिकित्सा में शहतूत खांसी, जुकाम, गले के खराब होने की अवस्था में शरबत के रूप में प्रयोग होता है।गरमियों में शहतूत का रस लाभदायक होता है। शरबतों और दवाओं में शहतूत का रस उपयोगी है। | आप चाहें कैसे ही बीमार क्यों न हों, अपने भोजन में सुधार करें। फलाहार प्रकृति का अमूल्य उपहार है, जो ईश्वर ने प्रचुरता से उत्पन्न किया फलों तथा तरकारियों के रस आप में यौवन, स्वास्थ्य, जीवन और आनन्द की अभिवृद्धि करते हैं।
फल, तरकारियां उनके रस-आहार के रूप में लें। आप तरुण, तेजस्वी एवं वृद्धावस्था तक स्वस्थ बने रह सकते हैं। फलों के प्रयोग द्वारा बहूमूल्य जीवन को सुरक्षित किया जा सकता है। फल हमारे पेट को सही अवस्था में रखते हैं और पाचन शक्तियों को सबल रखते हैं। फलाहार ही चुस्त रखता है। इसी कारण महत्त्वपूर्ण फलों का यह विवरण प्रकाशित है। आप इससे लाभ उठायें।

Share:

No comments:

Post a Comment

Ad

Popular Posts

Recent Posts

Ambiya e karam ka full wakiya

Contact us

Name

Email *

Message *